देश के कई हिस्सों में तेज बारिश और बाढ़ से हालात गंभीर, महाराष्ट्र में दो लाख लोग विस्थापित

नई दिल्ली: महाराष्ट्र ,केरल और तमिलनाडु में बाढ़ से हालत गंभीर बनी हुए है। भारी बारिश, तेज हवाओं और भूस्खलन से भारी तबाही हुई है और गुरुवार को वर्षाजनित हादसों में 15 लोगों की मौत होने की खबरे हैं। महाराष्ट्र के पांच पश्चिमी जिलों में दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, गोवा, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और केरल में अगले दो दिन में भीषण बारिश होने का अनुमान है।

पश्चिमी महाराष्ट्र में बाढ़ प्रभावित सांगली जिले में गुरुवार को एक बचाव नौका के पलट जाने से नौ लोग डूब गए। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सांगली और कोल्हापुर में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा के लिए हवाई सर्वेक्षण किया। क्षेत्र में भारी वर्षा के बाद ये सबसे अधिक प्रभावित जिले हैं जहां कृष्णा और पंचगंगा नदियों का जलस्तर बढ़ा हुआ है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने फडणवीस से बात की और बाढ़ से निपटने के लिए केंद्र से हरसंभव सहायता का आश्वासन दिया।एक अधिकारी ने बताया कि सांगली में राहत एवं बचाव कार्य में लगी एक नौका के पलट जाने से नौ लोग डूब गए और चार लापता हैं। पुणे के मंडल आयुक्त दीपक म्हैसकर ने बताया कि यह दुर्घटना पालुस तहसील के ब्रहमनाल गांव के पास हुई जब एक नौका बाढ़ प्रभावित 30 से 32 लोगों को लेकर जा रही थी। उन्होंने कहा, ‘अभी तक नौ शव मिल गए हैं। करीब 15 लोग तैरकर सुरक्षित स्थान पर पहुंच गए।’ फडणवीस कार्यालय के एक अधिकारी ने बताया कि इस बीच कर्नाटक अलमाटी बांध से पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ने पर सहमत हो गया है जो कि कृष्णा नदी पर बहाव में नीचे की ओर स्थित है। अधिकारी ने बताया कि फडणवीस ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा से बात की जो उत्तर कर्नाटक में अलमाटी बांध से पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ने को तैयार हो गए।

महाराष्ट्र के पांच पश्चिमी जिलों में दो लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। इन जिलों में बारिश और बाढ़ संबंधी घटनाओं में अब तक 27 लोगों की मौत होने की खबर है। केरल के कई इलाकों में भारी बारिश से उत्तरी केरल बाढ़ की चपेट में हैं। गुरुवार को विभिन्न हादसों में चार लोगों की मौत हो गई। मौसम विभाग ने राज्य के चार जिलों के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया है। ये चार जिले भारी वर्षा और तेज हवाओं की चपेट में हैं।भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के सूत्रों ने कहा कि यह अलर्ट इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और वायनाड के लिए जारी किया गया है। राज्य की अधिकांश नदियों और बांधों में जलस्तर बढ़ रहा है और कन्नूर, वायनाड, इडुकी, मलप्पुरम, कोझीकोड और कासरगोड में बाढ़ जैसे हालात हैं। यहां की प्रमुख नदियों जैसे मणिमाला, मीनाचल, मूवट्टापुझा, चलियार, वालापट्टनम, इरूवाझीनीपुझा और पंबा में जलस्तर बढ़ा हुआ है। तमिलनाडु में कोयंबटूर शहर में वर्षाजनित हादसों में दो लोगों की मौत हो गई। नीलगिरि, थेनी, कोयम्बटूर, तिरुनेलवेल्ली और कन्याकुमारी जिलों में भारी बारिश से इन जिलों के निचले इलाकों में पानी भर गया है।

कर्नाटक में वर्षा जनित हादसों में नौ लोग मारे गए हैं जिनमें से छह लोग बेलगावी जिले से थे। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बचाव दलों ने कर्नाटक के उत्तरी तटों के प्रभावित जिलों तथा मलनाड से 43,858 लोगों को बचाया है। इस दल में अग्नि और आपातकालीन विभाग, राज्य आपदा मोचन बल, राष्ट्रीय आपदा मोचन बल और सेना शामिल है। मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने बाढ़ग्रस्त इलाकों का हवाई दौरा किया। बाढ़ से बेहाल ओडिशा में हादसे में एक व्यक्ति मारा गया वहीं उसका बेटा पानी के तेज बहाव में बह गया।

मौसम विभाग के भुवनेश्वर केंद्र के निदेशक एच आर बिस्वास ने बताया कि बालासोर के नजदीक ओडिशा और पश्चिम बंगाल तट पर बने कम दबाव के क्षेत्र की वजह से ओडिशा के अधिकतर हिस्सों में भारी बारिश हो रही थी, लेकिन बुधवार की दोपहर को यह कमजोर पड़ गया। गोवा, गुजरात और मेघालय में भी बारिश से हालात खराब हैं।

कुछ लोग राम को काल्पनिक मानते थे, अब अयोध्या में भगवान राम का मंदिर बन रहा है: सीएम योगी     |      महिला मित्र के साथ रह रहा सॉफ्टवेयर इंजीनियर 20वीं मंजिल से कूदा, हुई मौत      |     विजय की फिल्म ‘थलपति 67’ में संजय दत्त की धमाकेदार एंट्री…     |     वजन के साथ कोलेस्ट्रॉल भी होगा कम, लौकी का जूस पीने के अनोखे फायदे     |     पठान की सफलता पर खुश हुए संजू बाबा, शाहरुख खान को दी बधाई     |     फिल्म ‘तू झूठी मैं मक्कार’ का  गाना  ‘तेरे प्यार में’ हुआ रिलीज     |     कराची में अहमदी समुदाय की मस्जिद में उपद्रवियों ने की तोड़फोड़     |     प्राइज मनी के लिए आपस में भिड़े घरवाले, टीम बी ने जीता टास्क का पहला राउंड     |     मायावती ने अखिलेश को याद दिलाया ‘गेस्ट हाउस कांड’, बोलीं- उपेक्षित वर्गों को ‘शूद्र’ कहकर इनका अपमान न करे समाजवादी पार्टी     |     मणिपुर के उखरूल में 4.0 तीव्रता का भूकंप     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088