तिरुवनंतपुरम सीट से शशि थरुर आगे, भाजपा से मिल रही है टक्कर

New Delhi : तिरुवनंतपुरम सीट से शशि थरुर 10,898 वोटों से आगे चल रहे हैं। भाजपा के कुमन्नम राजशेखरन दूसरे स्थान पर चल रहे हैं। 2014 में शशि थरुर इस सीट से 15,470 वोटों से चुनाव जीते थे। यहां मुकाबला कड़ा है। अब देखना यह होगा कि इस बढ़त को कौन बरकरार रख पाएगा। केरल में कांग्रेस 16 सीटों पर आगे चल रही है। केरल में लोकसभा की 20 सीटें हैं।
केरल की तिरुवनंतपुरम सीट काफी अहम है। यह सीट 1957 में सबसे पहले अस्तित्व में आई थी। तब से लेकर अब तक ज्यादातर इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा रहे है।इस सीट पर एक बार निर्दलय, एक बार संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी, 4 बार कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया की जीत हुई है।
इस बार इस सीट से कांग्रेस के सबसे चर्चित नेता शशि थरूर चुनाव लड़ रहे हैं। 2009 और 2014 में भी शशि थरूर इस सीट से जीतकर संसद पहुँच चुके हैं। उनके खिलाफ भाजपा के कुमन्नम राजशेखरन चुनाव लड़ रहे हैं। सीपीआई से सी. दिवाकरण चुनाव लड़ रहे हैं।
2019 के चुनावी हलफनामे में शशि थरूर ने अपनी कुल संपत्ति 35 करोड़ बताई है। वही भाजपा के उम्मीदवार ने 12 लाख की संपत्ति घोषित की है। आपको बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में शशि थरूर को 34.09% वोट मिले थे। वही भाजपा के उम्मीदवार राजगोपाल को 32.32% वोट मिले थे। सीपीआई भी इस सीट पर काफी मजबूत है। भाजपा के राजशेखरन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक है। थरूर उनपर साम्प्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाते रहे हैं।

Rudraksha : आप भी पहन रहें हैं गले में रुद्राक्ष, तो जाने क्या है रुद्राक्ष धारण करने के नियम     |     फुटपाथ पर सब्जी बेच रहे युवक का तराजू उठाकर फेंक दिया था रेलवे ट्रैक पर, उठाने के दौरान ट्रेन से दोनों पैर कटे     |     फिरोजपुर से पकड़ी 5 AK 47 और 5 पिस्टल, पाकिस्तान से भेजे गए हथियार     |     भाई के साथ कर रहा था खेल, अफसरों को देता था महंगे गिफ्ट, गुरुवार को पूछताछ के लिए गए थे उठाए     |     सीएम ने कहा-जिस प्रोडक्ट की बाजार में जरूरत, उसी को करें तैयार; मार्ट में पहले ही दिन 75 हजार का बिका उत्पाद     |     शंखनाद, स्वस्तिवाचन व यज्ञ के साथ गीता महोत्सव का आगाज     |     45 की जगह 41वें दिन लगा दिया पेंटा का टीका, 13 घंटे बाद मासूम की माैत     |     सपा की बैठक में निकाय चुनाव पर चर्चाः जावेद पिण्डारी समीर चौधरी निकाय चुनाव प्रभारी बने     |     दो राज्यों में आता है ये रेलवे स्टेशन, जानिए कहां है देश का सबसे लंबा प्लेटफॉर्म     |     पिछली और मौजूदा सरकार में कुछ नहीं बदला है सिर्फ धरनों का स्थान व विधायकों के चेहरे बदले     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें-8418855555