Tis Hazari clash मामले की होगी न्यायिक जांच, झड़प में शामिल पुलिस अधिकारियों का ट्रांसफर का आदेश

नई दिल्ली। दिल्ली हाई कोर्ट ने शनिवार को पुलिस और वकीलों के बीच हुए हिंसक झड़प का स्वतः संज्ञान लिया है। कोर्ट ने इस मामले में केंद्र सरकार, दिल्ली सरकार, बार एसोसिएशन ऑफ इंडिया और हाई कोर्ट और सभी जिलों के बार एसोसिएशन को नोटिस जारी किया है। चीफ जस्टिस ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को छह सप्ताह के भीतर जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है।

चीफ जस्टिस डीएन पटेल और सी हरि शंकर की पीठ ने शाम तीन बचे दोबारा से सुनवाई शुरू की। कोर्ट ने पुलिस से पूछा कि अब तक इस मामले में कितनी एफआइआर दर्ज हुई है। इस पर पुलिस की तरफ से पेश हुए राहुल मेहरा ने बताया कि इस मामले में कुल चार एफआइआर दर्ज है। राहुल मेहरा ने कोर्ट को बताया कि शनिवार को हुए हिंसक झड़प में 21 पुलिसकर्मी, 8 वकील घायल हैं। घायलों में एडिशनल डीसीपी और दो एसएचओ शामिल हैं। हिंसक झड़प में 14 बाइक, पुलिस की जिप्सी, और आठ कैदी वाहन को जलाया गया है। पुलिस की तरफ से बताया कि इस मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है

इससे पहले इस मामले को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में हाई कोर्ट के जजों के साथ पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक की मीटिंग हुई। बैठक के बाद फैसला किया गया कि वकीलों और पुलिस के बीच मारपीट के मामले की कोर्ट सुनवाई करेगी। वहीं एडिशनल जज पिंकी ने मौके का रविवार को मुआयना किया। तीस हजारी कोर्ट में पुलिस और वकीलों के बीच हिंसक झड़प के बाद रविवार को लगने वाली लोक अदालत भी रद कर दी गई है।

हिंसक झड़प में 20 लोग घायल

बता दें कि उत्तरी दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट परिसर में शनिवार को लॉकअप के बाहर कार खड़ी करने को लेकर वकीलों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हुई थी। पुलिस की गोली से कुछ वकील जख्मी हो गए। इससे गुस्साए वकीलों ने पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। पुलिस की जिप्सी और वहां खड़ी 13 मोटर साइकिलों को फूंक दिया। सात कैदी वैन में भी तोड़फोड़ की गई। सूचना पर पहुंचे पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को भी बंधक बनाकर उनके साथ बदसुलूकी की गई। एडिशनल डीसीपी व दो एसएचओ सहित 20 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

सूचना पाकर मौके पर पहुंचे अतिरिक्त पुलिस बल के साथ उत्तरी जिले के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त हरेंद्र सिंह व उपायुक्त मोनिका भारद्वाज के साथ बदसुलूकी की गई। इस बीच पुलिस फोर्स कोर्ट परिसर के बाहर मौजूद थी। बाद में पुलिस ने वकीलों पर लाठी चार्ज कर दिया। इस दौरान महिला वकीलों को भी पीटा गया। वकीलों ने अपना गुस्सा कवरेज करने गए मीडियाकर्मियों पर भी उतारा। वकीलों ने उनके साथ मारपीट करने के अलावा मोबाइल भी छीन लिए। कोर्ट के बाहर वीडियो बना रहे आम लोगों के मोबाइल वकीलों ने छीने। इसी बीच आसपास के जिलों व थानों से पुलिस फोर्स बुला ली गई।

कर्तव्य पथ पर पहली बार मार्च पास्ट करेगी मिस्र सेना की टुकड़ी, परेड में दिखेगा बहुत कुछ नया     |     भारतीय शेयर बाजार विदेशी निवशकों को लगा महंगा     |     रिपब्लिक डे पर एयर इंडिया ने फ्लाइट्स टिकट पर दिया ऑफर     |     छिंदवाड़ा में हिंदूवादी संगठनों ने पठान फिल्म के पोस्टर फाड़े     |     कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय के बयान पर रविशंकर प्रसाद का फूटा गुस्सा     |     मध्य प्रदेश के राज्यपाल भोपाल में और सीएम शिवराज जबलपुर में करेंगे ध्वजारोहण     |     आप-भाजपा पार्षदों के हंगामे के बीच फिर टला मेयर चुनाव, सदन अनिश्चितकाल के लिए स्थगित     |     मुंबई: देशभक्ति से भरपूर फिल्म है ‘पठान’ फर्स्ट शो के बाद 300 शो बढ़ाए गए, अब तक की सबसे बड़ी रिलीज बनी     |     इंदौर में हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं पर FIR, पठान मूवी के विरोध में मुस्लिम संगठनों पर आपत्तिजनक नारेबाजी के आरोप     |     अब छिंदवाड़ा में पठान का विरोध, राष्ट्रीय हिंदू सेना ने किया पुतला दहन..जमकर की नारेबाजी     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088