गिरती ही जा रही है दिल्ली की एयर क्वालिटी, सांस लेना हुआ मुश्‍किल

नई दिल्‍लीः दिवाली के नजदीक आते ही एक बार फिर दिल्ली-NCR की वायु गुणवत्ता ‘‘बहुत खराब” श्रेणी में पहुंच गई और सप्ताहांत तक इसमें भारी गिरावट की उम्मीद है। दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर खतरनाक बना हुआ है। दिल्ली एनसीआर का एयर क्वालिटी इंडेक्स 300 से ऊपर जा चुका है, जो कि खतरे की घंटी है।

PunjabKesari

कुल मिलाकर दिल्ली में हवा का स्तर यानी एक्यूआई 306 अंक पर पहुंच गया है। इलाके के हिसाब से देखें तो डीयू में 309 अंक, आयानगर में 311 अंक, एयरपोर्ट पर 315 अंक और लोधी रोड पर यह आंकड़ा 302 अंक पर पहुंच गया है। आने वाले दिनों में दिवाली का त्योहार भी है जिसमें पटाखे चलने स हवा में और विषैला धुआं घुलेगा।
बता दें कि इससे पहले गुरुवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 293 दर्ज किया गया जो कि खराब श्रेणी में आता है। दिल्ली के कई इलाकों में एक्यूआई और भी खराब रहा। राजधानी का दिल माने जाने वाले कनॉट प्लेस इलाके में एक्यूआई 391 दर्ज किया गया जो कि बेहद खराब श्रेणी में आता है। राष्ट्रीय राजधानी के हरित क्षेत्रों में भी वायु की गुणवत्ता खराब दर्ज की गई।

गौरतलब है कि पूरे सितंबर माह के दौरान दिल्ली में हवा की गुणवत्ता संतोषजनक स्थिति में रही। दिल्ली सरकार ने राजधानी में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के उद्देश्य से चार नवंबर से वाहनों के लिए (ऑड-ईवन) योजना लागू करने की घोषणा की है। यह योजना 15 नवंबर तक लागू रहेगी और अन्य राज्यों से आने वाले वाहनों पर भी यह प्रतिबंध लागू रहेगा।

ट्रैक्टर ट्राली से टकराई बाइक, दो लोगों की मौत, एक गंभीर घायल     |     मुख्यमंत्री चौहान ने दिल्ली के गणतंत्र दिवस समारोह में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले एन.सी.सी. कैडेट्स को किया सम्मानित     |     नेशनल हाईवे से हिदायत देकर हटवाया अतिक्रमण     |     20 लीटर नाजायज कच्ची शराब व एक चाकू के साथ तीन गिरफ्तार     |     जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी     |     केरल की फुटबाल टीम ने 20 गोल कर बनाया इतिहास, दमन-दीव को हराया     |     श्रावस्ती में महसूस क‍िए गए भूकंप के झटके     |     मुख्यमंत्री चौहान ने निजी वेबसाइट का किया शुभारंभ     |     अडानी समूह मामले में कांग्रेस का कामकाज स्थगित करने का नोटिस        |     37 परिवारों को मकान निर्माण के लिए मिले 44 लाख…. बाढ़ में कट गए थे रामनगरा गांव के 37 परिवारों के घर, 44 लाख कृषकों को 21. 84 करोड़ का अनुदान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088