चार दिन की चांदनी…फिर अंधेरी रात, दिल्ली की सड़कों में होने लगा नियमों का उल्लंघन

देशभर में 1 सितम्बर 2019 से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया गया था। इस एक्ट के तहत देश में यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों पर भारी जुर्माना लगाने का प्रावधान रखा गया। इसे लेकर शुरुआत के 15 दिनों तक पुलिस की सख्ती के साथ ही लोगों में भी नियम का डर देखने को मिला। पर समय बीतने के साथ ही फिर स्थिति पहले की तरह होती जा रही है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की सड़कों पर फिर से वाहन चालकों द्वारा खुलेआम यातायात नियमों का उल्लंघन देखा जा रहा है। जहां नियम लागू होने के बाद भारी भरकम जुर्माने के डर से न सिर्फ बिना सही कागजात वाले वाहन सड़क से कम हो गए थे, वहीं सड़क पर चल रहे वाहनों के चालकों को नियमों का पालन करते देखा जा रहा था। कार चालक सीट बेल्ट लगाए हुए और बाइक चालक और सवार हेलमेट पहने हुए दिख रहे थे।

रेड लाइटों को पार करना तो दूर रेड लाइटों पर गाडिय़ां नियमनुसार जेब्रा क्रॉसिंग के पीछे रुक रही थीं। पर फिर से गाडियों को रेड लाइट जंप करते हुए, बाइकों पर बिना हेलमेट और ट्रिपल राइड करते हुए देखा जा रहा है। लोगों के अनुसार बढ़े हुए जुर्माने को लेकर हो रहे राजनीतिक विरोध और कई राज्यों द्वारा नए एक्ट को लागू करने को लेकर राहत दिए जाने के कारण दिल्ली के लोगों में भी 15 दिनों पहले इस एक्ट को लेकर आई गंभीरता व डर खत्म होता जा रहा है। जबकि दिल्ली ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अब भी दिल्ली में पहले दिन की तरह ही एक्ट को सख्ती से लागू किया जा रहा है।

ट्रैक्टर ट्राली से टकराई बाइक, दो लोगों की मौत, एक गंभीर घायल     |     मुख्यमंत्री चौहान ने दिल्ली के गणतंत्र दिवस समारोह में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले एन.सी.सी. कैडेट्स को किया सम्मानित     |     नेशनल हाईवे से हिदायत देकर हटवाया अतिक्रमण     |     20 लीटर नाजायज कच्ची शराब व एक चाकू के साथ तीन गिरफ्तार     |     जिले में 25 जनवरी को मनाया जाएगा 13वां ’राष्ट्रीय मतदाता दिवस’-जिलाधिकारी     |     केरल की फुटबाल टीम ने 20 गोल कर बनाया इतिहास, दमन-दीव को हराया     |     श्रावस्ती में महसूस क‍िए गए भूकंप के झटके     |     मुख्यमंत्री चौहान ने निजी वेबसाइट का किया शुभारंभ     |     अडानी समूह मामले में कांग्रेस का कामकाज स्थगित करने का नोटिस        |     37 परिवारों को मकान निर्माण के लिए मिले 44 लाख…. बाढ़ में कट गए थे रामनगरा गांव के 37 परिवारों के घर, 44 लाख कृषकों को 21. 84 करोड़ का अनुदान     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088