बाबुल सुप्रियो से छात्रों की बदसलूकी- बाल खींचे और फाड़े कपड़े, आरोपियों की हुई पहचान

कोलकाता: जादवपुर यूनिवर्सिटी में केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो से बदसलूकी का मामला काफी गरमा गया है। वहीं सुप्रियो पर हमला करने वाले युवकों की तस्वीरें सामने आई हैं। बाबुल सुप्रियो ने अपने ट्विटर अकाउंट पर इसकी तस्वीरें शेयर की हैं। बता दें कि गुरुवार को केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो एबीवीपी द्वारा आयोजित एक संगोष्ठी को संबोधित करने के लिए दोपहर ढाई बजे विश्वविद्यालय आए थे। छात्रों ने आरंभ में ‘बाबुल सुप्रियो वापस जाओ’ के नारे लगाते हुए करीब डेढ़ घंटे तक सुप्रियो को कैंपस में प्रवेश करने से रोका। इसके बाद छात्रों के एक समूह ने केंद्रीय मंत्री को काले झंडे दिखाए और उनका घेराव करते हुए उन्हें कैंपस से बाहर जाने से रोक दिया। इस दौरान कुछ छात्रों ने केंद्रीय मंत्री के बाल खींचे और उनके कपड़े भी फाड़ दिए।

बाबुल सुप्रियो की सहायता के लिए राज्यपाल जगदीप धनखड़ जादवपुर यूनिवर्सिटी पहुंचे और किसी तरह से उन्होंने केंद्रीय मंत्री को भीड़ से निकाला और अपनी गाड़ी में बिठाया और वापस राजभवन लाए। विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राज्यपाल के सामने भी वामपंथी छात्र संगठनों- एसएफआई, एएफएसयू, एफईटीएसयू और आईसा और टीएमसीपी के छात्रों ने प्रदर्शन किया। जादवपुर विश्वविद्यालय अध्यापक संघ (जेयूटीए) के एक प्रवक्ता ने बताया कि छात्रों को मनाने के लिए अध्यापक आगे आए जिसके बाद धनखड़ और बाबुल सुप्रियो शाम में वहां से रवाना हो सकें। कैंपस में सेमिनार आयोजित करने वाली एबीवीपी के समर्थकों ने आर्ट फैकल्टी स्टूडेंट्स यूनियन (एएफएसयू) के कमरे में तोड़फोड़ की।

‘जय श्री राम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाते हुए एबीवीपी के समर्थक कमरे के फर्नीचर, कंप्यूटर और पंखों में आग लगाते हुए नजर आए। उन्होंने कमरे की दीवार पर एबीवीपी भी लिख दिया। वहीं इस घटना पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह किसी तरह की राजनीति करने नहीं गए थे लेकिन छात्रों के व्यवहार से दुख हुआ। बाबुल सुप्रियो ने कहा कि विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों के व्यवहार से दुखी हूं, जिस तरह उन्होंने मेरा घेराव किया। उन्होंने मेरे बाल खींचे और मुझे धक्का दिया। शाम पांच बजे परिसर से बाहर निकलते समय भी भाजपा नेता को विरोध प्रदर्शन का सामना करना पड़ा।

राज्यपाल धनखड़ ने कहा कि विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह द्वारा केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का घेराव किया जाना एक गंभीर मुद्दा है। उन्होंने घटना के संबंध में राज्य के मुख्य सचिव को तुरंत कदम उठाने को कहा। विश्वविद्यालय सूत्रों के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान विश्वविद्यालय के कुलपति सुरंजन दास की तबीयत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पार्टी के पश्चिम बंगाल मामलों के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि यह घटना राज्य में बिगड़ती कानून व्यवस्था का पर्याप्त सबूत है।

माघ पूर्णिमा स्नान पर श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई डुबकी      |     अरुण यादव को मिला पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का साथ, बोले-कांग्रेस में पहले मुख्यमंत्री घोषित करने की परंपरा नहीं     |     चिकित्सकों ने सर्जरी कर खोल दिया जन्म से बंद मुंह, 20 साल बाद खाया खाना       |     गोरखपुर-फैजाबाद खंड स्नातक निर्वाचन को सकुशल सम्पन्न कराने हेतु मतदान स्थलों पर पहुंची पोलिंग पार्टियां     |     बैंक अर्थ-व्यवस्था की जीवन रेखा     |     मा0 अध्यक्ष जिला पंचायत ने महामाया राजकीय महाविद्यालय भिट्टी में ’’वार्षिक क्रीडा प्रतियोगिता’’ का किया शुभारम्भ     |     मुस्लिम बन चुकी मां पर हिंदू बेटियों को संपत्ति का हक नहीं     |     दिल्ली के एलजी ने जी20 शिखर सम्मेलन से संबंधित कार्यो में प्रगति की समीक्षा की     |     दूसरों की सेवा में ही आनंद – हमें हर गरीब का दर्द हरना है     |     फील्ड पेट्रोलिंग के लिए उन्नत तकनीक का इस्तेमाल करेगा एटीआर     |    

पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088